होम देश विदेश उज्जैन नरक निगम के भष्ट्र अधिकारियों ने ली एक युवक की जान

उज्जैन नरक निगम के भष्ट्र अधिकारियों ने ली एक युवक की जान

उज्जैन नरक निगम के भष्ट्र अधिकारियों ने ली एक युवक की जान -: लेखन एवं संकलन मिलिन्द्र त्रिपाठी उज्जैन नरक निगम के भष्ट्र तंत्र के जाल में फंस कर एक युवक शुभम खंडेलवाल जिसकी महज 15 दिन पूर्व शादी हुई थी आत्महत्या को मजबूर हो गया ।

या मजबूर कर दिया गया ? उज्जैन नरक निगम में पैसो के लालच का गन्दा खेल चलता है । बिना पैसे दिए यहां कोई काम नही होता है । 2 उपयंत्री ने मिलकर 3 लाख रुपये की रिश्वत मांगी न देने पर युवक पर आपराधिक प्रकरण तक दर्ज करवाये गए ।

उस पर इतना मानसिक दवाब बनाया गया कि उसने जीवन को ही खत्म कर लिया । अपनी आजीविका चलाने के लिए उज्जैन में वैसे ही कोई उद्योग ,रोजगार नही है ।

यहां के युवा बेरोजगारी का दंश झेल रहे है । ऐसे में साहस करके ही कोई ठेकेदारी जैसे कठिन कार्य मे लगता है । ठेकेदार होना मतलब भष्ट्र नेता एवं अधिकारियों का सॉफ्ट टारगेट जिस पर पैसो का छप्पर रखा जाता है ।

यदि 13 लाख रुपये के टोटल काम मे 3 लाख रुपये छीन लिए जाएंगे तो कमाई के नाम पर ठेकेदार के पास क्या बचेगा ? काम की गुणवत्ता कैसी होगी ? कोरोना काल में आर्थिक संकट हर व्यक्ति पर गहरा गया है ।

ऐसे में 3 लाख रु. कहाँ से दिए जाते ? क्या लुटरे सफेदपोश अधिकारियों के अंदर जरा सी भी मानवता नही बची है ।
उज्जैन नगर निगम के ठेकेदार स्व.शुभम खंडेलवाल की आत्महत्या सच्चाई में नगर निगम के अधिकारियों द्वारा की गई हत्या है ।

15 दिन पूर्व शुभम की शादी हुई थी पति की हत्या से दुखी पत्नी ने भी आत्महत्या की कोशिश की है । नगर निगम के अधिकारियों के भष्ट्राचार ,लालच ने 2 जिंदगी बर्बाद कर दी और न जाने कितने ऐसे लोग होंगे जिन्हें पैसो के लालच में यह लोग प्रताड़ित करते होंगे ।

शुभम को प्रताड़ित करने के लिए उस पर झूठे केस भी दर्ज किए गए थे । इस भष्ट्र तंत्र में शामिल सभी अधिकारियों और जिम्मेदारों पर पर हत्या का केस दर्ज होना चाहिए ।

ऊपर से लेकर नीचे तक ऐसे भष्ट्र तंत्र को जड़ से खत्म करना होगा । पुलिस ने मृतक शुभम खंडेलवाल की जेब से दो लिफाफे और एक सुसाइट नोट जब्त किया है।

ये दो लिफाफे क्रमश: मुख्यमंत्री और गृह मंत्री के नाम है, जो पुलिस द्वारा उन्हें ही भेजे जाएंगे। वहीं परिजनों के नाम लिखे सुसाइट नोट में शुभम ने लिखा पूज्य पिताजी एवं माताजी मुझे माफ कर देना।

बहुत दिनों से बेहद परेशान था। नगर निगम के दो उपयंत्री नरेश जैन और संजय खुजनेरी व इनके साथी मुझे बेहद मानसिक तनाव दे रहे थे। मेरी मौत के ये सब जिम्मेदार हैं।

इन्ही की वजह से मैं आत्महत्या कर रहा हूं। कुछ दिनों पहले इन दोनों नगर निगम के अधिकारियों ने खाराकुआं और चिमनगंज थाने में शुभम खंडेलवाल के खिलाफ अपनी गाड़ी के कांच फोड़ने, घर पर पत्थरबाजी करने तथा जान से मारने की धौंस देने के प्रकरण दर्ज करवाए थे।

यह प्रकरण बिना जांच के कैसे दर्ज हुए ? यह प्रकरण इतनी जल्दी कैसे दर्ज हुए ? क्या गाड़ी के कांच फोड़ने के कोई वीडीयो है क्योंकि संभवतः दोनो नगर निगम के बड़े अधिकारी है इनके घर के बाहर सीसीटीवी कैमरे अवश्य लगे होंगे ?

आखिर 2 उपयंत्री ने पुलिस अधिकारियों के साथ मिलीभगत करके यह प्रकरण दर्ज करवाये थे क्या ?
शुभम पर यह भी आरोप लगाए थे कि वह बिल पास करवाने के लिए दबाव बनाने के चलते यह सबकुछ कर रहा है।

सोचने वाली बात है कि क्या दवाब बनाने वाला स्वयं सुसाइड कर ले और जिनपर दवाब बनाया गया है वो बच जाए ? यह कैसे संभव है ? घटना से पहले रात 8 बजे के लगभग बिल्डर्स एसोसिएशन के वाट्सएप ग्रुप पर शुभम ने फोटो सेंड किया था।

लोगो का कहना है कि संभवत: उसने खुद की सेल्फी सेंड की थी। रात के अंधेरे में केवल चेहरा ही दिखाई दे रहा था। उसने सेल्फी के साथ कुछ लिखा भी था लेकिन ग्रुप के लोग पढ़ते उससे पहले ही उसने डिलीट भी कर दिया था।

शुभम के मोबाइल को सायबर सेल द्वारा जांच करके डिलीट मेसेज ओर कॉल डिटेल की जांच करना चाहिए । क्या यह भष्ट्राचार में लिप्त अधिकारी रिश्वत के पैसो में सबको हिस्सा देते है ?

क्या कुछ अग्रणी भष्ट्र नेताओं को भी उनका हिस्सा दिया जाता है ? तीसरी डिग्री का इस्तेमाल कर 2 उपयंत्री से भष्ट्राचार की चैन का पता लगाया जा सकता है ।

क्या पुलिस कोर्ट से रिमांड मांगेगी ? क्या पुलिस के सिनीयर अधिकारी शुभम पर बिना जांच प्रकरण दर्ज करने वाले मानसिक रूप से प्रताड़ित करने वाले पुलिस वालों पर हत्या के केस का मुकदमा दर्ज करेंगे ?

देखते है समय के साथ शुभम को न्याय मिलता है या समय के साथ इस मुद्दे को भी दबा दिया जाएगा ?

लेखन एवं संकलन मिलिन्द्र त्रिपाठी

milindrahttps://jansarkarnews.com
योगाचार्य पं.मिलिन्द्र त्रिपाठी उज्जैन मध्यप्रदेश शिक्षा -: एमएससी योग थैरेपी, पीजी डिप्लोमा योग दर्शन ,एम. ए पत्रकारिता , एल.एल.बी ,एम एस डब्लू ,बी.सी.ए पद – सचिव उज्जैन योग संघ संस्थापक उज्जैन योगा इंस्टीट्यूट संपर्क 9977383800 ,9098369093

Leave a Reply

Most Popular

केसरिया हिन्दू वाहिनी मध्यप्रदेश की वृहद बैठक उज्जैन में सम्पन्न

केसरिया हिन्दू वाहिनी मध्यप्रदेश की वृहद बैठक उज्जैन में सम्पन्न -:

भारत सरकार द्वारा गठित MPYSA द्वारा योग स्टेट जज के प्रमाण पत्र से डॉ.मिलिन्द्र त्रिपाठी को किया गया सम्मानित

भारत सरकार द्वारा गठित MPYSA द्वारा योग स्टेट जज के प्रमाण पत्र से किया गया सम्मानित -: मेरे लिए गौरवशाली क्षण

उज्जैन कुलपति ने खुद ली विद्यार्थियों की क्लास शिक्षक के तौर पर कुलपति को पाकर चौक उठे विद्यार्थी

कुलपति चैंबर छोड़ अचानक क्लास लेने पहुंचे विक्रम विश्व विद्यालय के कुलपति -: कुलपति ने खुद ली विद्यार्थियों की...

उज्जैन योग संघ द्वारा आयोजित योग कॉन्फ्रेंस में बड़ी संख्या में शामिल हुए योगाचार्य

उज्जैन योग संघ द्वारा आयोजित योग कॉन्फ्रेंस में बड़ी संख्या में शामिल हुए योगाचार्य -:

Recent Comments