होम उज्जैन दमदार कार्यशैली के दम पर अपनी अलग पहचान स्थापित करती सीएसपी पल्लवी...

दमदार कार्यशैली के दम पर अपनी अलग पहचान स्थापित करती सीएसपी पल्लवी शुक्ला

दमदार कार्यशैली के दम पर अपनी अलग पहचान स्थापित करती सीएसपी पल्लवी शुक्ला लेखन एवं संकलन मिलिन्द्र त्रिपाठी उज्जैन में अनेकों सीएसपी हुए लेकिन जनता के बीच अपनी अलग पहचान बहुत कम सीएसपी स्थापित कर पाए ।पहले सीएसपी होने का मतलब था कि केवल टी आई को फोन करके कार्यवाही के निर्देश देना ।

लेकिन सीएसपी पल्लवी शुक्ला ने फील्ड में उतरकर सक्रिय कार्यवाहियों द्वारा सीएसपी कैसा होना चाहिए इसका उदाहरण पेश किया है ।  अपनी त्वरित कार्यवाही एवं दमदार कार्यशैली के दम पर सीएसपी पल्लवी शुक्ला की छवि आज जनता में उस पुलिस अधिकारी के तौर पर बन गयी है जिनके पास न्याय की गुहार लगाने पर त्वरित निराकरण मिलता है । गुंडा तत्व ओर अपराधी जिनका नाम सुनते ही कांपने लगते है ।

जिनका नाम आते ही अपराधी सोचते है कि खाश सीएसपी मैडम के हत्ते न चढ़ जाए । बाबा महाकाल की परम भक्त रोज उनका आशीर्वाद लेकर ही अपना कार्य शुरू करती है । जनता की सेवा को ही अपना कर्तव्य मानकर वे हमेशा जनता के संपर्क में रहती है । स्वयं का मोबाइल नम्बर स्वयं अटेंड करती है ।

इत्मिनान से सबकी बाते सुनती है आम जनता को भी सम्मान देकर बात करती है । फरियादी को हौसला देकर अपराधियों की लू उतार देती है ।सघन रहवासी क्षेत्रों में जनता से सीधे संवाद का ही परिणाम था कि जनता ने पुलिस को किराए के मकानों में चल रहे रैकेट की सूचना दी । जनता भी जानती है सीएसपी मेडम को कॉल करना मतलब समस्या का समाधान होना है ।

माफिया ओर नशे के धन्धो पर उनके द्वारा नकेल लगाई गई है । नशे के कारोबारीयों ने उनके क्षेत्र में आने वाले क्षेत्रों से दूरी बना ली है । जनता के प्रति उनकी संवेदना के कई उदाहरण है । एक बार पंवासा थाने के सामने एक बुजुर्ग महिला बाइक से गिर गयी उन्हें बहुत चोट आई सीएसपी पल्लवी शुक्ला उन्हें अपने वाहन से अस्पताल लेकर गयी ।

अपराधी कोई भी हो उसे बक्शा नही जाएगा इसी आधार पर पुलिस के एक आरक्षक की रैकेट में मिली भगत होने पर उन्होंने उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया । वही अंधे कत्ल का भी सिर्फ 12 घण्टे में पर्दाफाश करने से पुलिस के प्रति आमजन में विश्वास बढ़ा है । कच्ची एवं नकली शराब से लोगो की जान तक चली जाती है ।

शहर में अवैध शराब माफियाओं पर सिलसिलेवार कार्यवाही करके उन पर सीएसपी पल्लवी शुक्ला द्वारा नकेल कसी गयी है । हाल ही में उनके मार्गदर्शन मेंअवैध कच्ची शराब बनाने की भट्टी पर दबिश दी गयी थी जिसमे मौके से 12 ड्रम और शराब बनाने की भट्टीअवैध शराब व एक आरोपी को पकड़ा गया था ।

कोरोना काल मे भी सक्रिय सेवा से उन्होंने लोगो का दिल जीत लिया अनेको संस्थाओं द्वारा उनका सम्मान किया गया । सीएसपी पल्लवी शुक्ला एक संवेदनशील अधिकारी है महिला सशक्तिकरण की जीती जागती मिसाल है । कठोर पुलिस अधिकारी के इतर मेडम की छवि मददगार के तौर पर पहचानी जाती है ।

कोरोना काल मे उन्होंने गरीब मुक बधिर बालिका के परिवार को राशन दिया था । यह पुलिस के मानवीय पक्ष के तौर पर जनता द्वारा बहुत सराहा गया था ।नयापुरा जैन कॉलोनी की रहने वाली एक गरीब मूक-बधिर बालिका के परिवार पर लॉक डाउन की मजबूरी के कारण दो वक्त के खाने का संकट हो गया था ।

क्षेत्र से गुजरते समय सीएसपी मेडम को यह जानकारी लगी उन्होंने इस परिवार के लिए राशन का प्रबंध कराया।  दरअसल यह पहला मौका नहीं था जब सीएसपी शुक्ला ने किसी मजबूर की मदद की हो उन्होंने इसके पहले भी थाना चिमनगंज क्षेत्र में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कई लोगों को राशन उपलब्ध करवाया था।

कोरोना के इस संकट काल मे जहां एक ओर पुलिस जवान व अधिकारी अपनी ड्यूटी के प्रति पूरी तरह मुस्तैद दिखाई दे रहे हैसीएसपी पल्लवी शुक्ला स्वयं टेक्नोलॉजी के माध्यम से एवं फील्ड में उतरकर पुलिस जवानों का हौसला बढ़ा रही है । 

पी+ओ+एल+आइ+सी+ई = पुलिस शब्द का अर्थ होता है । पी : पोलाइट (विनम्र)ओ : ओबिडियंट (आज्ञाकारी)एल : लायल (वफादार)आई : इंटेलीजेंट (बुद्धिमान)सी : कॉन्फीडेंट (विश्वास से भरा)ई : इनरजेटिक (ऊर्जावान ) यही सब गुण पल्लवी शुक्ला में नजर आते है । इसी लिए उनकी छवि उज्जैन के दमदार अधिकारी के तौर पर बनती जा रही है । 
लेखन एवं संकलन मिलिन्द्र त्रिपाठी 

milindrahttps://jansarkarnews.com
योगाचार्य पं.मिलिन्द्र त्रिपाठी उज्जैन मध्यप्रदेश शिक्षा -: एमएससी योग थैरेपी, पीजी डिप्लोमा योग दर्शन ,एम. ए पत्रकारिता , एल.एल.बी ,एम एस डब्लू ,बी.सी.ए पद – सचिव उज्जैन योग संघ संस्थापक उज्जैन योगा इंस्टीट्यूट संपर्क 9977383800 ,9098369093

Leave a Reply

Most Popular

उज्जैन कुलपति ने खुद ली विद्यार्थियों की क्लास शिक्षक के तौर पर कुलपति को पाकर चौक उठे विद्यार्थी

कुलपति चैंबर छोड़ अचानक क्लास लेने पहुंचे विक्रम विश्व विद्यालय के कुलपति -: कुलपति ने खुद ली विद्यार्थियों की...

उज्जैन योग संघ द्वारा आयोजित योग कॉन्फ्रेंस में बड़ी संख्या में शामिल हुए योगाचार्य

उज्जैन योग संघ द्वारा आयोजित योग कॉन्फ्रेंस में बड़ी संख्या में शामिल हुए योगाचार्य -:

म.प्र. के अनेक विश्वविद्यालय में योग शिक्षा के नाम पर हो रही धांधली राज्यपाल से उच्च स्तरीय जांच की मांग

म.प्र. के अनेक विश्वविद्यालय में योग शिक्षा के नाम पर हो रही धांधली राज्यपाल से उच्च स्तरीय जांच की मांग -:

उज्जैन योग संघ की नवीन कार्यकारणी घोषित

उज्जैन योग संघ की नवीन कार्यकारणी घोषित -: मध्यप्रदेश शासन से मान्यता प्राप्त उज्जैन में योग की सबसे बड़ी...

Recent Comments